सर्वनाम की परिभाषा, भेद और 50 उदाहरण | Sarvnam Kya hai

दोस्तों, आज हम चर्चा करेंगे की सर्वनाम क्या होता है (Sarvanam Kise Kahte hain?) और इसके कितने भेद होते हैं? (Sarvanam ke kitne bhed hote hain?), साथ ही साथ हम कई उदाहरण भी देखेंगे जिससे आपको सर्वनाम के भेदों में अंतर समझ में आजायेगा। चलिए आज नए अंदाज़ में कुछ नया सीखते हैं।

सर्वनाम / Sarvnam

परिभाषा / Definition of Pronoun :

संज्ञा के स्थान पर प्रयोग होने वाले शब्द सर्वनाम/ Pronouns कहलाते हैं।
 
संज्ञाओं के बदले जो शब्द आता है उसे हम सर्वनाम कहते हैं। सर्वनाम / Pronouns का दूसरा नाम सर्व-संज्ञा भी है। सर्वनाम सब्द का अर्थ है ‘सभी का नाम’
 
उदाहरण: मैं, तुम, वह, वे, हम, इत्यादि।

 

 
 
सर्वनाम का प्रयोग हम क्यों करते हैं?
 
सर्वनाम का प्रायोग संज्ञा के स्थान पर होता है। यह बात तो सब जानते ही हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं की हम इनका प्रयोग क्यों करते हैं।
 
Sarvnaam, Sarvnam, सर्वनाम, परिभाषा, भेद उदाहरण
Pronouns in Hindi
ये कुछ पंक्तियाँ पढ़िए।
 
राम एक अच्छा बच्चा है। राम खेलने में और पढ़ने में आगे रहता है। राम का घर कानपुर में है। राम के पिता जी इंजीनियर हैं।
 
यहां पर राम शब्द (संज्ञा) का प्रयोग हर पंक्ति में बार बार हो रहा है। जोकि सुनने और पढ़ने में अजीब सा लगता है। अब इन पंक्तियों को पढ़ें।
 
राम एक अच्छा बच्चा है। वह खेलने और पढ़ने में आगे रहता है। उसका घर कानपुर में है। उसके पिताजी इंजीनियर हैं।
 
यहां पर हमने राम (संज्ञा) का प्रयोग सिर्फ एक बार किया है, बाकी जब भी हमें ‘राम’ नाम की आवस्यकता पड़ी हमने उसकी जगह सर्वनाम (वह, उसका तथा उसके)  का प्रयोग किया। जिसकी वजह से ऊपर वाला पैराग्राफ पढ़ने में, बोलने में आसान है, सुनने में भी अजीब नहीं लगता। अब तो आपको पता ही चल गया होगा की सर्वनाम का प्रयोग हम संज्ञाओं के बार बार प्रयोग होने से रोकने के लिए करते हैं।
 
सर्वनाम के बारे में विशेष:
 
  • वचन के अनुसार सर्वनाम  बदल जाते हैं। जैसे – वह खा रहा है। वे खा रहे हैं।
  • लिंग के अनुसार सर्वनाम का रूप नहीं बदलता।  जैसे- वह खा रहा है।  वह खा रही है।

 

सर्वनाम के भेद – Types of Pronoun in Hindi

Types of Pronouns in Hindi, सर्वनाम के प्रकार या भेद
Types of Pronoun in Hindi
 
सर्वनाम के प्रमुख रूप से छह भेद हैं।
1. पुरुषवाचक सर्वनाम / Personal Pronoun (Purushvachak Sarvnaam) – मैं, तुम, वह, वे, हम।
2. निश्चयवाचक सर्वनाम / Demonstrative Pronoun (Nishchayvachak Sarvanaam) – यह, वह, उसे।
3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम / Indefinite Pronoun (Anishchayvachak Sarvanaam) – कोई, कुछ।
4. प्रश्नवाचक सर्वनाम / Interrogative Pronoun (Prashnvachak Sarvnaam) – कौन, क्या।
5. निजवाचक सर्वनाम / Reflexive Pronoun (Nijvachak Sarvnaam) – स्वयं, अपने-आप।
6. सम्बन्धवाचक सर्वनाम / Relative Pronoun ( Sambandhvachak Sarvnam) – जो, सो, जिसे।

पुरुषवाचक सर्वनाम / Personal Pronoun (Purushvachak Sarvanaam)

जो सर्वनाम शब्द बोलने वाले (स्वयं), सुनने वाले तथा अनुपस्थिति किसी तीसरे व्यक्ति, वस्तु या वर्ग के लिए प्रयुक्त किया जाता है। पुरुषवाचक सर्वनाम / Personal Pronoun कहलाता है।
 
पुरुषवाचक सर्वनाम के उदाहरण / Examples of Personal Pronouns
 
मैं बोल रही हूँ।  ( यहां पर बोलने वाले यानी की स्वयं के लिए ‘मैं’ सर्वनाम का प्रयोग हुआ है)
तुम खेलने जाओगे क्या ? ( यहां पर सुनने वाले के लिए ‘तुम’ शब्द का प्रयोग किया गया है )
वे खेल रहे हैं। (यहां पर किसी तीसरे(अन्य) की बात की जा रही है, यहां  ‘वे’ सर्वनाम का प्रयोग हुआ है।)
 
सरल शब्दों में हम यह कह सकते हैं की,  सर्वनाम जो पुरुषों के बदले आते हैं ‘पुरुषवाचक सर्वनाम’ कहलाते हैं। यहां पुरुष शब्द के लिए सिर्फ पुरुष ही नहीं बल्कि स्त्री का भी बोध होता है।
 
पुरुषवाचक सर्वनाम तीन प्रकार के होते हैं।
1. उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम।
2. मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम।
3. अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम।
 
 उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम / First Person:  जो सर्वनाम शब्द बोलने वाले के लिए प्रयोग होते हैं, वह उत्तमपुरुषवाचक सर्वनाम कहलाते  है। उत्तमपुरुष में लेखक अथवा वक्ता आता है।
 
इसे आप इस तरह समझ सकते हैं कि जब बोलने वाला खुद अपने बारे में बात करे तब जो सर्वनाम वह अपने लिए प्रयोग कर रहा है वह उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम है।
 
जैसे: मैं स्कूल प्रतिदिन जाता हूँ।
यहां पर जो यह बात कह रहा है वह खुद के बारे में बात कर रहा है, इसलिए यहां पर ‘मैं’ शब्द उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम है।
 
उत्तम पुरुश्वाचक सर्वनाम के उदाहरण: 
 
1. आज मैंने शाहरुख़ खान की फिल्म देखी। (एकवचन)
2. फुटबॉल के मैच में मैंने पांच गोल किये। (एकवचन)
3. हम साथ मिलकर आज खाना खाएंगे।  (बहुवचन)
4. मैं तुम्हे चोरी के आरोप में गिरफ्तार करता हूँ। (एकवचन)
5. हम सब हिंदुस्तानी हैं, और हमें इसपर गर्व होना चाहिए। (बहुवचन)
 
मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम / Second Person: जिस सर्वनाम का प्रयोग सुनने वाले के लिए होता है उसे मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं।

 

मध्यमपुरुष में श्रोता और पाठक आते हैं।

 
इसे आप इस तरह समझ सकते हैं कि सुनने वाले केलिए हम मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम का प्रयोग करते हैं।
 
जैसे : तुम एक बढ़िया खिलाडी हो।
यहां पर ‘तुम’ शब्द का प्रयोग हुआ है, ‘तुम’ मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम है। यहां पर बोलने वाला सुनने वाले की बात कर रहा है।
 
मध्यम पुरुष वाचक सर्वनाम के उदाहरण: 
 
1. तुम घर कब आ रहे हो।
2. तुमलोग अनाड़ियों की तरह बर्ताव करना बंद करो।
3. आप बहुत अच्छा अभिनय करते हैं।
4. आपलोगों ने पाप किया है, सजा ईश्वर देगा।
5. तुम मोटरसाइकिल धीरे चलाओ।
 
अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम / Third Person : जब बोलने वाले  सुनने वाले के अलावा जब किसी तीसरे (अन्य) की बात हो रही हो, उसके लिए जिस सर्वनाम का प्रयोग होता है उसे अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं।
अन्य पुरुषवाचक में श्रोता और लेखक को छोड़कर सभी अन्य लोग आते हैं।
 
जैसे: वे अब कभी भी क्रिकेट नहीं खेल सकते।
यहां पर ‘वे’ शब्द का प्रयोग हुआ है, और यहां पर किन्ही तीसरे व्यक्तियों की बात हो रही है, यहां पर बोलने वाला न ही खुद के बारे में बात कर रहा है न ही सुनने वाले के बारे में, इसलिए यह एक अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम है।
 
अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम के उदाहरण:
 
1. वह एक महान अभिनेता है।
2. उन्हें खेलने दो।
3. वे लोग ट्रेन से मुंबई पहुंच रहे होंगे।
4. वह एक शानदार गायिका है।
5. वे सब कल समय पर विद्यालय में हाज़िर होंगे।
 
कुछ ध्यान देने योग्य बातें। 
 
* ‘तू’ का प्रयोग कभी निकटता के लिए, तो कभी तिरस्कार के लिए होता है।
जैसे:
प्रभु! तू ही हमें इस संकट की घडी से बाहर निकाल सकता है।  (निकटता)
धूर्त! तू मेरी नज़रों से दूर हो जा।
 
* ‘आप’ और ‘वे’ का प्रयोग एकवचन के साथ बहुवचन के लिए भी होता है।
जैसे:
आप अच्छे इंसान हैं।  (एकवचन)
आप सब मुंबई के लिए रवाना हो जाइये।  (बहुवचन)
वे आ गए हैं। (आदरसूचक एकवचन)
वे सब खेल रहे हैं।  (बहुवचन)
 
* ‘आप’ का प्रयोग अन्य पुरुष के लिए भी होता है।
जैसे:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई शिक्षा नीति की नींव रखी। इसकेलिए आपका धन्यवाद।
 
* ‘आप’ का प्रयोग अविकारी रूप में भी होता है।
यह काम मैं आप ही करता हूँ।
 

निश्चयवाचक सर्वनाम / Demonstrative Pronoun (Nishchayvachak Sarvanaam)

जिस सर्वनाम शब्द से किसी निश्चित व्यक्ति, वस्तु या स्थान की ओर संकेत किया गया हो, उसे निश्चयवाचक या संकेतवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे –
राहुल, यह मेरा घर है। (निकटवर्ती)
यहां पर ‘यह’ शब्द का प्रयोग यह निश्चित रूप से बता रहा है की घर उसी व्यक्ति का है।
रोशन का घर वह है।  (दूरवर्ती)
यहां दूर से संकेत कर के बताया जा रहा है की रोशन का घर कहाँ है। इसलिए यह दूरवर्ती है।
 
निश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण:
 
1. यह मेरा कलम है।
2. ध्यान से! मेरी किताब फटनी नहीं चाहिए।
3. आज मैं तुम्हारे कारखाने में आऊंगा।
4. यह महल अकबर ने बनवाया था।
5. यह राम भगवान् की जन्मभूमि है।
 
* निश्चयवाचक  सर्वनाम ‘यह’, ‘वह’ का प्रयोग कई बार उपवाक्य के दोहराव से बचने के लिए भी किया जाता है। जैसे – भारत एक शक्तिशाली देश है, यह विश्व को अब पता चलने लगा है।
* ‘वह’ का प्रयोग पुरुषवाचक (अन्य पुरुष) के लिए भी होता है और संकेत करने के की स्थिति में निश्चयवाचक सर्वनाम के रूप में भी।
 

अनिश्चयवाचक सर्वनाम / Indefinite Pronoun (Anishchayvachak Sarvanaam)

जब सर्वनाम शब्द का प्रयोग किसी अनिश्चित व्यक्ति या वस्तु के लिए होता है तो वह अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहलाता है।
जैसे:
कोई आया है।
यहां पर पूरे निश्चित रूप से नहीं बताया गया है की कौन आया है, सिर्फ इतना ही बताया जा रहा है की कोई आया है। यहां अनिश्चय वाचक सर्वनाम का प्रयोग हुआ है।
 
अनिश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण :
1. दरवाज़ा खोलो, शायद कोई बहार आया है।
2. किसीने मेरी किताब चोरी कर ली है।
3. आज कुछ ख़ास होने वाला है।
4. बाजार से कुछ खाने को ले आओ
5. मास्टर साहब का पढ़ाया कुछ समझ न आया।
6. मेरा कहा काम शायद किसीने नहीं किया।
 
* ‘कोई’ सर्वनाम का प्रयोग प्राणिवाचक संज्ञाओं के स्थान पर होता है।
* ‘कुछ’ सर्वनाम का प्रयोग अप्राणिवाचक संज्ञाओं (वस्तुओं) के लिए होता है। जैसे: तुम कुछ खा लो। लेकिन कुछ का प्रयोग विशेषण के रूप में प्राणीवाचक संज्ञाओं के लिए भी होता है। जैसे- कुछ लोग इधर आ रहे हैं।
 

प्रश्नवाचक सर्वनाम / Interrogative Pronoun (Prashnavachak Sarvanaam)

जिस सर्वनाम का प्रयोग किसी व्यक्ति या वस्तु के विषय में प्रश्न पूछने के लिए किया जाता है, उसे प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे-
आपके यहां कौन सा समारोह है?
यहां पर संज्ञा के स्थान पर प्रश्न ‘कौन’ का प्रयोग हुआ है इसलिए यह एक प्रश्नवाचक सर्वनाम है।
 
प्रश्नवाचक सर्वनाम के उदाहरण:
 
तुमने आज क्या देखा?
आज खाने में क्या बनेगा?
वह कौनसी फिल्म है जिसमें अक्षय कुमार ने सरदार की भूमिका निभाई?
तुम आज कहाँ जाने वाले हो?
रोहित ने किसकी गेंद पर छक्का मारा?
राहुल ने कौनसा नाटक किया?
 
* ‘कौन’ का दोहराव विशेष स्थितियों में ही होता है।  जैसे-
हम देखते हैं, इस आंदोलन में कौन-कौन भाग लेता है।
 * ‘कौन’ का प्रयोग अप्राणिवाचक संज्ञाओं के लिए हो तो ‘कौन’ के साथ ‘सा’ या ‘सी’ लग जाता है।
जैसे – तुमने कौन-सी फिल्म देखी?
 

निजवाचक सर्वनाम / Reflexive Pronoun (Nijvachak Sarvanaam)

जिस सर्वनाम शब्द का प्रयोग निजता पर बल देने के लिए किया जाता है, उसे निजवाचक सर्वनाम कहते हैं। स्वयं, आप, अपने-आप शब्द समान्यतः निजवाचक सर्वनाम की श्रेणी में ही आते हैं।
 
एक ही सर्वनाम शब्द को हम कई रूपों में प्रयोग कर सकते हैं।
आप वहां क्या कर रहे है? (पुरुषवाचक सर्वनाम)
मैं वहां अपने-आप जाऊंगा। (निजवाचक सर्वनाम)
 
निजवाचक सर्वनाम के उदाहरण:
 
तुम अपने-आप वहां जाओगे।
मैंने इंजीनिरिंग की पढाई करने का फैसला स्वयं किया।
अपनों ने ही उसे धोखा दिया।
 
 

सम्बन्धवाचक सर्वनाम / Relative Pronoun (Sambandhvachak Sarvnaam)

जब सर्वनाम शब्द का प्रयोग उसी वाक्य के किसी अन्य उपवाक्य में प्रयुक्त संज्ञा या सर्वनाम के साथ सम्बन्ध बताने के लिए किया जाए, तो उसे सम्बन्धवाचक सर्वनाम कहते हैं।
 
सम्बन्धवाचक सर्वनाम के उदाहरण 
 
जिसे तुमने अपना दोस्त समझा, वह स्वयं तुम्हें धोखा देता है।
 
वह मेरा ही घर था, जिसके बहार तुमने कूड़ा फेका।
उस नाव का हमेशा सम्मान करो, जिसपर बैठ कभी सफर किया हो।
 
 
 

संयुक्त सर्वनाम

संयुक्त सर्वनाम वे शब्द हैं, जो सर्वनाम संज्ञा शब्दों के मेल से बनते हैं
जैसे – हर कोई, सब कुछ, जो कोई, सब कोई, जो कुछ, कोई न कोई, कुछ एक, कोई भी, और कुछ, कुछ और, कुछ-न-कुछ, कोई-कोई, कोई एक, कुछ-कुछ इत्यादि।
 
 

सर्वनाम के विकारी और अविकारी रूप

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *