india vs austrilia

टीम इंडिया की हार के 3 कारण आए सामने, तीसरा कारण सबसे महत्वपूर्ण

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की T20I सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज का पहला मैच मंगलवार को खेला गया था। मज़े की बात यह है की इस सीरीज में भारतीय टीम अपने ही घर में बड़ी ही बेरहमी से हारी है। आईपीएल के शेर एक बार फिर से घर में ढेर हो गए हैं। भारत की इस हार से प्रशंषक काफी ज्यादा नाराज़ नज़र आ रहे हैं।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए इस मैच में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 209 रन का टारगेट दिया था। भारतीय टीम टारगेट को बचाने में नाकाम रही है। क्या टारगेट डिफेंड करने के लिए अब भारतीय टीम को 300 रनों की जरूरत पड़ेगी? प्रशंषक ऐसे कई प्रश्न सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया ने शुरू से ही गेम में पकड़ बनाकर रखी थी और इस टारगेट को 19.2 ओवर में ही पूरा कर लिया था।

आइये अब नज़र डाल लेते हैं की भारत किन कारणों से हारी है।

बद से बत्तर गेंदबाज़ी रही बड़ा कारण

भारत की गेंदबाज़ी बेहद ही ख़राब रही है। T20I में 200+ रन डिफेंड करने के लिए पर्याप्त माने जाते हैं फिर चाहे मैच किसी भी मैदान में हो रहा हो। भारतीय टीम की बल्लेबाज़ी में कोई कमज़ोरी नहीं दिखी थी। टीम ने अच्छा स्कोर किया था। यह कहना गलत नहीं होगा की टीम को हराने में गेंदबाज़ों का अहम् योगदान रहा है।

अक्षर पटेल (Axar Patel) को छोड़ दिया जाए तो सबने बेकार गेंदबाज़ी की है। उमेश यादव ने 2 विकेट जरूर लिए हैं मगर उनकी इकॉनमी भी खराब ही रही है, T20 में उम्दा इकॉनमी का बड़ा ही महत्त्व है। भारतीय टीम के सभी गेंदबाज़ों की इकॉनमी 10 के ऊपर रही है, यदि अक्षर पटेल की गिनती न करें तो। भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) चार ओवर में 44 रन पिटे हैं। उमेश यादव (Umesh Yadav) दो ओवर में 27 रन पिटे हैं। हर्षल पटेल (Harshal Patel) चार ओवर में 49 रन पिटे हैं। हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) दो ओवर में 22 रन पिटे हैं। चहल भी खूब पीटे गए हैं।

कप्तानी में रही कमी

कहीं न कहीं रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी ने भी कमाल नहीं दिखाया है। कहा जा रहा है की रोहित ने गेंदबाज़ों को अच्छे से चलाया नहीं है। यह भी शिकायत है की रोहित शर्मा गेंदबाज़ पर अपनी मनमर्ज़ी थोप देते हैं, उन्हें खुद के फैसले से गेंदबाज़ी नहीं करने देते हैं।

खराब फील्डिंग और छूटे हुए कैच भी साबित हुए विलेन

इस मैच में भारतीय टीम (Indian Cricket Team) की हार में खराब फील्डिंग का भी योगदान रहा है। जहां ओस्ट्रिलिया के खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल (Glen Maxwell) ने शानदार फील्डिंग दिखाई है वहीँ भारतीय टीम की फील्डिंग फीकी रही है।

दो महत्वपूर्ण कैच भी छुटे हैं। जब कैमेरॉन ग्रीन (Cameron Green) खतरा बन रहे थे उसी समय उनके दो कैच छोड़ दिए गए। पहला कैच कएल राहुल ने छोड़ा और दूसरा कैच अक्षर पटेल ने छोड़ा। दो जीवनदान मिलने के बाद फिर ग्रीन ने 60 रन ठोक दिए।