Dinesh Karthik, Rishabh Pant

दिनेश कार्तिक को प्लेइंग एलेवेन में न रखना भारतीय टीम को पड़ा मंहगा, जाने क्या है लोगों की राय

हम दर्शक बेवक़ूफ़ नहीं हैं, क्या पॉलिटिक्स चल रही है हमें साफ़ दिख जाता है। भारत लगातार दो मैच हार चुका है और इसी के साथ एशिया कप से भी बाहर हो चुका है। भारत ने सुपर फोर का अपना पहला मैच पकिस्तान के खिलाफ 5 विकेट से गंवा दिया, वहीँ दूसरा मैच श्रीलंका के खिलाफ था जिसे भारतीय टीम ने 6 विकेटों से गंवाया। भारतीय टीम की सबसे बड़ी कमज़ोरी रही वह थी गेंदबाज़ी। साथ ही साथ फिनिशर का टीम में न होना। पकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ खेले गए मैचों में 18-20 ओवर के बीच भारत के पास कोई फिनिशर बचा ही नहीं था।

दिनेश कार्तिक को न खिलाना पड़ा भारी

गेंदबाज़ी के साथ-साथ बल्लेबाज़ी में भी टीम इंडिया का प्रदर्शन बेहद ही खराब रहा है। भारतीय प्रमुख बल्लेबाज़ 17 ओवर तक नहीं टिक पा रहे हैं। क्या यह टीम विश्व कप खेलने लायक है? दिनेश कार्तिक (Dinesh Kartik) को आखिरकार क्यों नहीं निरंतर खिलाया जा रहा है? रोहित शर्मा ने ये कहा है कि वह दिनेश कार्तिक को इस वजह से बाहर रख रहे हैं क्योंकि उन्हें लेफ्ट हैंड कॉम्बिनेशन चाहिए था। हमें सब पता है की यह कोई कारण नहीं है, इसके पीछे बड़ी पॉलिटिक्स छिपी हुई है।

रोहित शर्मा ऋषभ पंत के खास दोस्त हैं। वह उन्हें ही बार-बार मौका देंगे भले ही पंत लगातार कितना ही खराब प्रदर्शन करते रहें, विकेट-कीपिंग भी उनकी दिनेश कार्तिक से अच्छी नहीं दिख रही है। आखिरकार वह टीम इंडिया का भविष्य हैं। ऐसा भविष्य जिसे वर्तमान में नहीं देखा जा सकता है।

लोगों में दिखा गुस्सा, कहा दिनेश को खिलाना चाहिए था

लोगों ने सोशल मीडिया में रोहित शर्मा और द्रविड़ को जमकर फटकार लगाई है। उनका कहना है कि दिनेश कार्तिक को बिना गेंद खेले ही प्लेइंग एलेवेन से बाहर कर देना न्याय की बात नहीं है। लोगों ने यह भी कहा है कि जो काम दिनेश कर सकते हैं वह काम ऋषभ नहीं कर सकते हैं।

लोगों ने कहा कि ऋषभ पंत कितना भी खराब क्यों न खेले उन्हें टीम से नहीं निकला जाएगा, दिनेश कार्तिक जैसे लीजेंड खिलाड़ी को बेंच पे बैठाना शर्मनाक बात है। लोगों ने यह भी कहा की दिनेश कार्तिक असली फिनिशर हैं न की दीपक हूडा।