bhuvneshwar kumar hardik

इकॉनमी के मामले में ये हैं भारत के 4 सबसे फिसड्डी गेंदबाज़, कुछ ने तो पाकिस्तान के खिलाफ हद ही कर दी

T20I में गेंदबाज़ी की बात करें तो इसमें इकॉनमी बहुत महत्त्व रखती है। T20 में यदि कोई गेंदबाज़ एक विकेट लेता है लेकिन दूसरी तरफ 40-45 रन भी दे देता है तो उसे अच्छी गेंदबाज़ी नहीं मानी जाती है। T20 में विकेट से ज्यादा शानदार इकॉनमी को महत्त्व दिया जाता है। आप सुनील नरेन् का उदाहरण ले लीजिए। भले ही आईपीएल में उन्हें ज्यादा विकेट न मिलते हों लेकिन उनकी इकॉनमी बेहद ही कम रहती है। यही वजह है की उन्हें बार-बार खेलने का मौका भी दिया जाता है। 20 ओवर के खेल में एक-एक रन महत्त्व रखता है। इस फॉर्मेट में गेंदबाज़ ज्यादा रन नहीं लुटा सकता है।

आज हम ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों पर चर्चा करेंगे जिन्होंने अंतराष्ट्रीय T20 में भारत के लिए खेलते हुए सबसे ज्यादा बार 10 के ऊपर की इकॉनमी से गेंदबाज़ी की है। साथ ही साथ हम यह भी बताएंगे इनका एशिया कप (Asia Cup 2022) में पाकिस्तान (IND vs PAK) के खिलाफ कैसा प्रदर्शन रहा।

सबसे ज्यादा इकॉनमी रखने वाले भारतीय खिलाड़ी

आपको बता दें कि ये स्टैट्स सिर्फ और सिर्फ अंतराष्ट्रीय T20 फॉर्मेट के हैं। खिलाड़ी ने एक इनिंग में कम से कम तीन ओवर फेंके हैं।

युजवेंद्र सिंह चहल: भारतीय क्रिकेट टीम के प्रमुख गेंदबाज़ों में से एक युजवेंद्र सिंह चहल (Yuzvendra Chahal) अब तक 13 बार 10+ की इकॉनमी से गेंदबाज़ी कर चुके हैं। एक ज़माने में ये बल्लेबाज़ों को छकाने के लिए जाने जाते थे जब वह कुलदीप यादव के साथ गेंदबाज़ी करते थे। हम यह बिलकुल भी नहीं कह रहे हैं कि वह कुलदीप के बिना अच्छी गेंदबाज़ी नहीं कर सकते हैं। वह अभी भी अच्छी गेंदबाज़ी करते हैं मगर कभी-कभी महत्वपूर्ण अवसर पर रन भी लुटा देते हैं। एशिया कप में हुए पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में इन्होने चार ओवर में 43 रन लुटाये थे।

भुवनेश्वर कुमार: हाल ही में एशिया कप में पकिस्तान के खिलाफ इन्होने भी चार ओवर में 40 रन लुटाये थे। उन्नीसवें ओवर में इन्होने (Bhuvneshvar Kumar) 19 रन दे दिए थे जिसके बाद इन्हें खूब कोसा भी गया था। लोगों का कहना था की इतना अनुभव होने के बाद भी वह ऐसी गेंदबाज़ी कैसे कर सकते हैं। भुवनेश्वर अपने करियर में 9 बार 10+ की इकॉनमी के साथ गेंदबाज़ी कर चुके हैं।

हार्दिक पांड्या: आल राउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) जितने खतरनाक बल्लेबाज़ हैं उतने ही खतरनाक गेंदबाज़ भी है। लेकिन जब इनका दिन नहीं होता है तो ये बहुत ही मंहगे साबित होते हैं। हार्दिक एशिया कप में पकिस्तान के खिलाफ खेले गए पहले मैच में बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी में कारगर साबित हुए थे। मगर दूसरे मैच में ये नाकाम रहे, इन्होने चार ओवर में 44 रन लुटाये। ये भारत के लिए खेलते हुए T20I में अब तक 8 बार 10+ की इकॉनमी से गेंदबाज़ी कर चुके हैं।

शार्दुल ठाकुर: शार्दुल ठाकुर अब तक अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में 8 बार 10+ की इकॉनमी से गेंदबाज़ी कर चुके हैं।