rishabh pant

खराब फॉर्म में जूझ रहे ये 3 खिलाड़ी विश्वकप में डुबा सकते हैं भारत की नैया

एशिया कप में मिली करारी हार के बाद भारत ने एक बार फिर से विश्वकप के लिए कमर कस ली है। एशिया कप में लोगों को बड़ी उम्मीद थी की भारतीय टीम कुछ कमाल करेगी मगर ऐसा न हो सका। आखिरकार आईपीएल में अच्छा करने वाले खिलाड़ियों से भला कोई क्यों नहीं उम्मीद रखेगा। बात तब फंस गयी जब टीम पाकिस्तान और श्रीलंका से लगातार दो मैच हार गयी और दुर्भाग्यवश उन्हें टीम से बाहर होना पड़ा।

BCCI ने T20 विश्वकप 2022 के लिए भारतीय टीम में खेलने वाले खिलाड़ियों की घोषणा कर दी है और इस बार फिर से वही कई गलतियां दोहराई गयी हैं जिसकी वजह से टीम इंडिया को पटखनी मिली थी। टीम में अच्छे खिलाड़ियों की जगह आईपीएल के शेरों को लिया गया था जो भारी पड़ा था। कुछ ऐसे भी खिलाड़ियों को भी एशिया कप में मौका मिला था जिनका फॉर्म पूरे टूर्नामेंट में डगमाया रहा था।

आइये उन खिलाड़ियों पर चर्चा कर लेते हैं जिन्होंने एशिया कप में खराब प्रदर्शन किया है या फिर फॉर्म में नहीं हैं और उसके बावजूद उन्हें विश्वकप के लिए चुन लिया गया है।

1. रिषभ पंत

rishabh pant

पंत का फॉर्म काफी समय से T20 फॉर्मेट में खराब चल रहा है। विश्वकप से पहले एशिया कप में उनके पास सुनहरा मौका था जिससे वह अपनी फॉर्म वापस पा सकते थे। मगर वह ऐसा करने में नाकाम रहे इसके बावजूद भी उन्हें अब टीम में विश्वकप के लिए फिर से मौका मिला है। अब देखना यह होगा की वह विश्वकप में कुछ कमाल कर भी सकते हैं या नहीं।

पंत ने एशिया कप के सुपर चार के मैचों में बेहद ही खराब प्रदर्शन किया है। पाकिस्तान के खिलाफ उन्होंने मात्र 14 रन बनाये थे और श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने 17 रन बनाये और सुपर चार के आखिरी भारत के मैच में अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ उन्होंने मात्र 20 रन बनाये थे। उस दौरान उनपर आरोप लगे थे की वह ज़िम्मेदारी से नहीं खेलते हैं और गैरज़िम्मेदाराना शॉट खेलकर आउट हो जाते हैं।

ज़ाहिर सी बात है की सेलेक्टर्स ने उनमें कुछ ख़ास देखकर ही विश्वकप में उन्हें चुना है। यदि वह अभी भी न फॉर्म में आये तो उनका बैठना तय है।

2. रविचंद्रन आश्विन

ऑफ़ स्पिनर आश्विन काफी समय से भारतीय टीम से बाहर चल रहे थे, पिछले T20 विश्वकप में उनके खराब प्रदर्शन के कारण उन्हें टीम से खदेड़ दिया गया था इसके बाद उन्हें काफी समय बाद वेस्टइंडीज दौरे में ले जाया गया। अब उन्हें विश्कप की टीम में शामिल कर लिया गया है और अब देखना होगा वह कैसा प्रदर्शन करके दिखाते हैं।

आश्विन ने रवि बिश्नोई की जगह ली है। कम मौके मिलने के बाद भी बिश्नोई ने सभी को प्रभावित किया था इसके बावजूद भी उन्हें टीम में जगह क्यों नहीं मिली? इसका ज़वाब सेलेक्टर्स ही दे सकते हैं।

3. अक्षर पटेल

अक्षर पटेल को भी विश्वकप में मौका दिया गया है। रविंद्र जडेजा चोट के कारण विश्वकप से बाहर होगये थे। भारतीय टीम को एक आल राउंडर चाहिए था जो उनकी जगह ले सके इसीलिए अक्षर का चुनाव हुआ है। कई लोगों का तो यह भी मानना है की अक्षर की जगह तेज़ गेंदबाज़ शार्दुल ठाकुर को टीम में लेना चाहिए था। अक्षर ने बड़े टूर्नामेंट में अभी तक कोई खास प्रदर्शन नहीं किया है।