India Vs Pakistan

ये 5 काम हो जाते तो पाकिस्तान के खिलाफ जीत सकती थी भारतीय टीम, अफ़सोस की बात

IND vs PAK, Asia Cup 2022: भारत और पकिस्तान मैच का हाई वोल्टेज मैच आखिर ख़त्म होगया। पाकिस्तान ने इस मैच को 5 विकेट से जीतकर राउंड वन का बदला ले लिया है। राउंड टू में भारत ने ऐसी कई गलतियां की हैं जिसकी वजह से उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। आज इस लेख में हम उन्हीं गलतियों पर चर्चा करेंगे। पकिस्तान ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाज़ी करने का न्योता दिया था। भारत ने शुरुवात तो अच्छी की लेकिन पाकिस्तान ने भारत का खेल धीमा कर दिया और अंत तक खेल में पकड़ बनाकर रखी। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए सात विकेट खोकर 181 रन बनाये बदले में पाकिस्तान ने मात्र 5 विकेट खोकर इसे आसानी से चेज़ कर लिया।

मैच के अंतिम ओवर में दिलचस्प खेल बन गया था कौन जीतेगा इसपर भी बड़ा ड्रामा हुआ। खैर उसपर भी चर्चा करेंगे। विराट कोहली ने इस मैच में 44 गेंदों में 60 रनों की पारी खेली मगर उनकी पारी भी खराब चली गयी। चलिए अब जानते हैं कि ऐसे कौन से 5 काम भारतीय टीम कर देती तो टीम जीत सकती थी।

अर्शदीप का कैच छोड़ना पड़ा भारत के लिए मंहगा

Arshdeep Singh

मोहम्मद नवाज़ का कैच छोड़ना भारत के लिए मंहगा साबित हुआ है। नवाज़ को प्रमोट करके नंबर चार पर लाया गया था। उन्होंने 20 गेंदों में 42 रन बनाये थे। 210 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी करते हुए नवाज़ भारत के लिए घातक साबित हुए। उनकी बल्लेबाज़ी के बाद मैच मानो पाकिस्तान की झोली पर चला गया हो। अगर वह आसान सा कैच लपक लेते तो भारत जीत सकता था।

अर्शदीप की बात करें तो उनके द्वारा फेंका गया बीसवां ओवर भी कारकर साबित नहीं हुआ। उन्होंने बीसवें ओवर की चौथी गेंद में एक विकेट चटकाया जहां ऐसा लगा था भारत के अभी भी जीतने के लक्षण हैं। बीसवें ओवर की चौथी गेंद में आसिफ अली को आउट करने के बाद पाकिस्तान को दो गेंदों में दो रन चाहिए थे। इफ्तिखार अहमद नए बल्लेबाज़ के तौर पर आये और दो रन भाग कर पकिस्तान को जीता ले गए।

भारत की फिसड्डी गेंदबाज़ी बनी हार का कारण

इस मैच में भारत की गेंदबाज़ी उम्मीद से काफी खराब रही है। भारत की तरफ से चहल भी पिटे, हार्दिक भी पिटे, लगभग सभी गेंदबाज़ पिटे हैं। भुवनेश्वर ने चार ओवर में 40 रन दिए। उन्नीसवें ओवर में इन्होने पकिस्तान को 19 रन लुटाये। हार का असल कारण यही ओवर था जिसे एक्सपेरिएंस्ड गेंदबाज़ भुवनेश्वर ने किया था। हार्दिक ने भी चार ओवर में 44 रन लुटा दिए। उनकी तो गेंद ही सही ठिकाने में नहीं गिर रही थी। चहल ने भी चार ओवर में 43 रन लुटाये। भारत के 5 में से तीन गेंदबाज़ बुरी तरह पिट गए।

पिछले स्टार्स रहे नाकाम

भारत पाकिस्तान मैच के पिछले स्टार हार्दिक पंड्या बिलकुल नाकाम सभीत हुए हैं। उन्हें खाता खोलने का भी मौका नहीं मिला। वहीँ कमज़ोर टीम हांगकांग के खिलाफ रौब दिखाने वाले सूर्यकुमार यादव भी फ्लॉप रहे। आपको याद दिला दें कि राउंड 1 के मैच में भी सूर्य पाकिस्तान के खिलाफ नाकाम रहे थे। सूर्य ने इस मैच में 10 गेंदों में मात्र 13 रन ही बनाये थे।

मेन्टेन करना था मोमेंटम

Rohit Sharma

भारत ने शुरुवात तो अच्छी की थी मगर उस शुरुवात को अच्छे से काबू नहीं कर पाए। रोहित शर्मा ने 16 गेंदों में 28 रन बनाकर भारत को एक लाजवाब शुरुवात दे दी थी। 12 ओवर तक मैच भारत ने पकड़ कर रखा था। लेकिन धीर धीरे भारत ने मोमेंटम गंवाना चालु कर दिया। एक समय पे 200 रनों के ऊपर दिख रहा स्कोर 181 में आकर रुक गया। फिर भी डिफेंड करने के लिए ये अच्छा स्कोर था। गेंदबाज़ों ने साथ नहीं दिया।

भारतीय टीम का फिनिशर गाबय

आखिरी के दो ओवर में भारत के पास फिनिशर ही नहीं था। विराट कोहली के साथ भुवनेश्वर कुमार थे। न ही भुवनेश्वर बड़े शॉट खेलने में सक्षम हैं और न ही विराट कोहली की हालिया स्ट्राइक रेट ऐसा करने की मंज़ूरी दे रही थी। बीसवें ओवर की शुरू की कुछ गेंदें तो विराट ने छक्का मारने के चक्कर में चाप दीं। बिश्नोई ने दो चौके मारे वो भी किस्मत के थे। दिनेश कार्तिक की गैरमौजूदगी खली, वह अंत के एक-दो ओवरों में खेलने के लिए ही जाने जाते हैं। आखिर दिनेश की ऐसी कौन सी गलती थी जिसकी वजह से उन्हें मौका नहीं दिया गया। जिस खिलाड़ी की वजह से दिनेश को मौका नहीं मिला वह खिलाड़ी बह T20 में फ्लॉप चल रहा है।