bhuvi arsh boom

भुवनेश्वर कुमार का हो रहा है पुरजोर विरोध, अर्शदीप को वापस लाने की मांग, पेश किये जा रहे हैं फैक्ट्स

भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) का पुरजोर विरोध हो रहा है, उन्हें हटाकर अर्शदीप (Arshdeep Singh) को लाने की डिमांड बढ़ती ही जा रही है। ऑस्ट्रेलिया से मिली हार के बाद भारतीय टीम का विरोध हो रहा है। लोगों का दावा है की जब इतना बड़ा स्कोर डिफेंड नहीं कर पा रहे हैं तो विश्वकप में भला कैसे जीतेंगे। कई लोगों का मानना है की टीम इसलिए हार रही है क्योंकि रोहित शर्मा (Rohit Sharma) अभी खिलाड़ियों के साथ प्रयोग कर रहे हैं और जब बुमराह लौटेंगे तो सब कुछ ठीक हो जायेगा।

लोग भुवनेश्वर कुमार को टारगेट कर रहे हैं, उनका कहना है की जब वह उन्नीसवें ओवर में गेंदबाज़ी करने में नाकाम रह रहे हैं तो उनसे बार-बार वही काम क्यों करवाया जा रहा है।

आइए अब जानते हैं की लोगों की इस बारे में क्या राय है और वे सोशल मीडिया में क्या लिख रहे हैं।

लोगों की डिमांड है भुवनेश्वर को तत्काल निकाल कर अर्शदीप को लाया जाए।

लोगों की राय बताने से पहले आपको हम एक जानकारी देना चाहते हैं। 2021 के बाद से अर्शदीप की इकॉनमी T20 में चौथे नंबर पर सबसे बेस्ट है। उनकी इकॉनमी 7.79 की रही है। वहीँ पहले स्थान पर सुनील नरेन् हैं।

चलिए अब मुद्दे पर आते हैं। क्रिक स्टेन ट्विटर पर लिखते हैं की, आखिरी के चार ओवर (डेथ ओवर) में जब डिफेंड करने की बारी आती है तब भुवनेश्वर 63 रन लुटा कर एक भी विकेट नहीं ले पाते हैं, वहीँ अर्शदीप 34 रन देकर तीन विकेट झटक लेते हैं।

सिमरन रंधावा लिखते हैं की हर्षल और भुवनेश्वर उस तरह के गेंदबाज़ हैं की जब लोग उन्हें फोड़ना चालु करते हैं तो उन्हें नहीं पता रहता है की वापसी कैसे करनी है, वहीँ अर्शदीप सिंह जिन्होंने पकिस्तान के साथ मैच के दौरान जंगली भीड़ के सामने कैच छोड़ दिया था, इसके बावजूद भी उन्होंने अंतिम ओवर में लगभग नामुमकिन काम किया है।

क्रिकेटमान लिखते हैं की भारत वास्तव में कुछ मैचों से जसप्रीत बुमराह की सर्विस को मिस कर रही है। बूम-बूम बुमराह (Jasprit Bumrah) की वापसी का इंतज़ार है।जसप्रीत बुमराह और अर्शदीप सिंह की जोड़ी को डेथ ओवर में देखने का अब इंतज़ार नहीं होता। यूज़र वेंकटेश प्रशाद लिखते हैं की ‘मुझे लगता है की भारत ने अर्शदीप सिंह को लगातार डेथ ओवर में मौका न देकर एक ट्रिक मिस कर दी है। विश्वकप से पहले जितना हो सके उन्हें मौका देना चाहिए।’

कोहलीज़ा नाम की यूज़र लिखती हैं की, न शमी हैं, न सिराज हैं, न अर्शदीप हैं, न हूडा हैं, इसके बावजूद भी रोहित शर्मा मैच हार रहे हैं, चहल, भुवि, हर्षल, हार्दिक काम नहीं आ रहे हैं। अगर यदि आप अभी भी सोचते हैं की रोहित अच्छे कप्तान हैं तो आप आँख मूंदे हुए अंध भक्त हैं जो उनकी खराब कप्तानी को स्वीकारने का मन नहीं बना रहा है।