best finishers

विश्व के 11 सबसे महान फिनिशर्स की सूची

गेम फिनिश करना अपने आप में एक बड़ी बात है। सभी टीमों को एक अच्छा फिनिशर चाहिए होता है जो अंतिम के ओवरों में टीम को मजधार से निकाल सके। एक मैच फिनिशर का काम आखिर क्या होता है?

जब मैच में ऊपरी क्रम और मध्य क्रम के बल्लेबाज़ फेल होजाएं तब मैच फिनिशर ही टीम को मुश्किलों से उबार सकता है। जब माना गया टारगेट पूरा न हो पाया हो तब मैच फिनिशर ही टारगेट पूरा करने को देखता है। फिनिशर के ऊपर दबाव होता है, वह हर दबाव को आँखें दिखाकर लड़ता रहता है। मैच फिनिशर बनना सब के बस की बात नहीं। खासकर T20 मैच फिनिशर का रोल और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

ऊपरी क्रम के बल्लेबाज़ को भरपुर समय मिलता है उन्हें इतना दबाव भी नहीं झेलना पड़ता लेकिन एक मैच फिनिशर के लिए परिस्थितियां बिलकुल विपरीत होती हैं। आज हम ऐसे ही कुछ महान मैच फिनिशर्स पर चर्चा करने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी काबिलियत से सबको चौका के रख दिया।

1. महेंद्र सिंह धोनी:

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने भारत के लिए काफी कमाल की पारियां खेल चुके हैं। धोनी को विश्व का सबसे बड़ा मैच फिनिशर माना गया है। इन्होने काफी मैच छक्कों के साथ ख़त्म किये हैं, जहां तक मुझे याद है इन्होने ऐसा कारनामा लगभग 9 मैचों में किया है। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भारत और चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए कई मैचेस खेले हैं जिसमे उन्होंने टीम को अकेले दम पर जीत दिलाया है।

धोनी अंतिम के ओवरों में खेलने आते थे इसके बावजूद भी उनके वनडे क्रिकेट में 10,000 से भी ज्यादा रन हैं। 2011 विश्वकप के फाइनल मुकाबले में धोनी ने जिस तरह से मैच को ख़त्म कर के दिखाया था यही वजह रही है की हमने उन्हें नंबर वन फिनिशर माना है।

2. ए.बी. डिविलियर्स:

ए.बी. डिविलियर्स (AB Diviliars) ने भी अपने क्रिकेट करियर में काफी कारनामे करके दिखाए हैं। Mr.360 डिग्री के नाम से मशहूर इस साऊथ अफ्रीकन खिलाड़ी में ऐसी काबिलियत थी की यह गेंद को हर कोने में मारने का दम रखते थे। ये एक कूल स्वभाव के व्यक्ति थे और बैटिंग को बहुत ही आसान बना देते थे। इनका स्टाइल का तो हर क्रिकेट प्रशंसक दीवाना है।

डिविलियर्स ने सभी फॉर्मेट में कुल 19000+ रन बनाए हैं। यह एकमात्र बल्लेबाज़ थे जिनका बैटिंग एवरेज 50 से ऊपर का था। इनका स्ट्राइक रेट भी 100 से ऊपर ही रहा है। साउथ अफ्रीकन टीम के साथ ही साथ इन्होने आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर से खेलते हुए भी भारतीय लोगों के दिलों में राज़ किया है।

3. माइकल बेवन:

माइकल बेवन ऑस्ट्रेलिया के सबसे शानदार फिनिशर रहे हैं। 1990 के दौर में इनका खूब जलवा था। ये उस दौर के सबसे खतरनाक फिनिशर थे। ये टारगेट को चेज़ करते थे मानो ऐसा करना बहुत ही आसान हो इनके लिए।

क्रिकेट में फिनिशर शब्द का प्रयोग इन्ही की वजह से किया जाने लगा था। जितना ज्यादा प्रेशर होता था ये उतना ही खतरनाक बन जाते थे। 1999 और 2003 विश्वकप में इन्होने अपनी टीम के लिए एक ख़ास किरदार निभाया था।

4. शाहिद अफरीदी:

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) पहली ही गेंद उड़ाना चालू कर देते थे। पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी ने सभी प्रारूपों में 10,000 से भी ज्यादा रन बनाए हैं। अफरीदी ने वनडे क्रिकेट में सबसे बढ़िया प्रदर्शन किया है। इस ऑलराउंडर खिलाड़ी ने जिस भी मैच में कमाल का प्रदर्शन किया है वह मैच पकिस्तान ने जरूर जीता है। इनकी सबसे बड़ी कमी इनकी खराब निरंतरता थी।

अन्य खिलाड़ी

5. माइकल हस्सी – ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, टेस्ट क्रिकेट के सबसे शानदार फिनिशर
6. अब्दुल रज़्ज़ाक – पकिस्तान के बेस्ट बोलिंग फिनिशर
7. विवियन रिचर्ड्स – वेस्टइंडीज़ के सबसे घातक फिनिशर
8. जॉस बुटलर – इंग्लैंड के सबसे शानदार फिनिशर
9. जावेद मिआंदाद – पकिस्तान के फिनिशर
10. कीरोन पोलार्ड – T20 में वेस्टइंडीज़ के सबसे शानदार फिनिशर

दिनेश कार्तिक:

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) किस नंबर में होने चाहिए यह आप खुद तय कर सकते हैं। दिनेश फिनिशर के रूप में हाल ही में जाने गए हैं। इन्होने आईपीएल में बैंगलौर की तरफ से खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया था। यही वजह थी की उन्हें टीम इंडिया से भी खेलने का मौका मिला। t20 में कार्तिक शानदार बल्लेबाज़ी करते नज़र आ रहे हैं। कई लोगों का यह भी मानना है की कार्तिक 2022 विश्वकप में भी खेलते नज़र आएंगे।