India vs WI

West Indies vs India: वेस्टइंडीज लगातार हार रही है मैच, यह बड़ी वजह आई सामने

वेस्टइंडीज़ टीम (Westindies Team) लगातार मैच हारती ही चली जा रही है इसकी बड़ी वजह सामने आई है जिसे मैच के दौरान कमेंटेटरों ने दर्शकों के साथ बखूबी साझा किया है। आपको बता दें की वेस्टइंडीज़ और भारत (West Indies vs India) के बीच मैच चल रहे हैं। मैच में बिलकुल भी मज़ा नहीं आ रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है की वेस्टइंडीज की टीम मैच को दिलचस्प बनाने में नाकाम रह रही है, ऐसा बिलकुल भी नहीं लगता की किसी मोड़ में भी यह टीम भारतीय टीम को टक्कर दे पा रही है।

आपको बता दें की वेस्टइंडीज़ टीम भारत के साथ पांच मैचों की T20 श्रृंखला खेल रही है और मज़े की बात यह है, अब तक चार मैचों में यह टीम सिर्फ तीन मैच ही जीत सकी है, हाँ एक जीता था लेकिन वह भी क्या जीत जिसमें गिर-पड़ के जीते हों। अगर अंतिम ओवर में किस्मत साथ न देती और भारत की तरफ से नो बॉल न फेंकी जाती तो यह मैच भी उनके हाँथ से गया था। इसके पहले भारत के साथ वनडे सीरीज हुई थी वे भी हार गए थे ये लोग। और उसके पहले थोड़ा चलें तो बांग्लादेश से भी यह हार चुके हैं वनडे सीरीज, वो भी एक दम चौकस क्लीन बोल्ड तरीके से, खल्लास।

आखिर T20 फॉर्मेट में विष्फोटक कही जाने वाली यह टीम इतना हार क्यों रही है। आइये यह भी जान लेते हैं।

कमज़ोर कप्तानी

जहां भारत से रोहित शर्मा (Rohit Sharma) शानदार कप्तानी का प्रदर्शन कर रहे हैं तो वहीँ वेस्टइंडीज के कप्तान निकोलस पूरन (Nicholas Pooran) कप्तानी को खेलवाड़ बना के रखे हैं। न ही वह फील्ड सेट कर पा रहे हैं और न ही वह गेंदबाज़ों को सही ढंग से चला पा रहे हैं। फील्ड को परख भी नहीं पाते हैं वार्ना फ्लोरिडा (Florida) वाले मैच में सिर्फ एक ही स्पिनर को क्यों खिलाते भला? एक्सपर्ट्स ने भी फैनकोड (Fancode) में यही बात कही थी।

अच्छे अनुभवी खिलाड़ियों की कमी

कुछ दिन पहले सुनील नरेन् से पूछा गया था की क्या आप अपने देश की टीम से खेलना चाहते हैं? तब उन्होंने जवाब दिया था की हाँ जी बिलकुल मैं खेलना चाहता हूँ लेकिन यहां क्या चल रहा है मुझे खुद भी नहीं पता है। वेस्टइंडीज़ की टीम घूम फिर कर उन्हीं खिलाड़ियों के साथ उतर रही है जो बिलकुल भी रिजल्ट नहीं दे पा रहे हैं।

जहां भारतीय टीम में खिलाड़ियों की भरमार लगी हुई कि खुद सेलेक्टर्स असमंजस में हैं कि किसे खिलाना चाहिए किसे छोड़ना चाहिए। वहीँ दूसरी तरफ वेस्टइंडीज के पास विकल्प नहीं है।

यह भी हो सकता है की जिसे यह खिलाना चाहते हो वह खेलना ही नहीं चाहते देश के लिए और जिसे यह नहीं खिलाना चाहते वह खेलना चाहते हैं जैसे अपने सुनील नरेन। हमें तो यही लगता है अगर इन खिलाड़ियों से काम नहीं बन रहा है तो नए खिलाड़ी चुने जाने चाहिए, अगर आंद्रे रसल और सुनील नरेन् जैसे खिलाड़ियों को फिर से शामिल कर लिया जाए तो बुरा नहीं होगा। कम से कम इस परिस्थिति से तो अच्छा ही होगा। वैसे भी नरेन् आईपीएल (Indian Premier League) में किफायती रहे हैं, कम से कम इतना तो नहीं पिटेंगे जितना इनके फास्ट बॉलर पिटते हैं। भारत के सामने उन्हें जरूर लाना चाहिए।