Ross Taylor

रॉस टेलर ने आईपीएल को लेकर किये कई सनसनीखेज खुलासे, कहा राजस्थान के मालिक रसीद देते थे तमाचे

आईपीएल (Indian Premier League) जितना देखने में मज़ेदार लगता है उतना ही विवादों से भी भरा रहा है। न्यूज़ीलैंड के पूर्व कप्तान रॉस टेलर (Ross Taylor) ने अपनी आत्मकथा के ज़रिये आईपीएल से जुडी कई बातें सामने रखी हैं। उन्होंने किसी पर आरोप लगाया है तो किसी की तारीफ भी की है।

उन्होंने लिखा है की राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के मालिक ने मुझे तीन चार बार तमाचे मारे थे जब मैं 2011 के आईपीएल के दौरान मोहाली में मैं जीरो पर आउट होगया था। उन्होंने मुझसे यह भी कहा था की हम तुम्हें करोड़ों रुपए इसलिए नहीं दे रहे हैं की तुम जीरो में आउट हो जाओ। वे मुझे मारकर फिर हसने लगे थे। यह जोरदार तमाचे तो नहीं थे लेकिन प्रोफेशनल स्पोर्टिंग वातावरण में ऐसा करना बिलकुल ही गलत है।

रॉस टेलर ने यह भी कहा की उनका आईपीएल में लम्बा करियर हो सकता था जब मुझे आईपीएल 2011 में आरसीबी ने रिलीज़ किया था। मगर ऐसा न हो सका, क्योंकि यहां पर उन्ही की वाहवाही होती है जो लम्बे समय तक एक ही टीम के लिए खेलते रहते हैं।

रॉस टेलर ने आईपीएल से जुड़ी एक दिल को छू जाने वाली बात भी कही है उन्होंने यह भी कहा है कि 2012 में जब मैं दिल्ली दरदेविल्स दे खेलता था तब हम में से कई खिलाड़ी ताज महल घूमना चाहते थे। लेकिन दिल्ली से आगरा जाने में चार घंटे लग जाते और आठ घंटे बाद हमारा मैच भी था। दिल्ली डेयरडेविल्स (Delhi Daredevils) के मालिक किरण कुमार ने हम ग्यारह खिलाड़ियों के लिए दो प्राइवेट जहाज का इंतज़ाम किया। वाकई ही यह एक अद्भुत एक्सपीरियंस था।

आपको बता दें की रॉस टेलर ने राजस्थान रॉयल्स से सिर्फ एक ही सीजन खेला है और उसके बाद वह दिल्ली डेयरडेविल्स में चले गए थे और फिर वह पुणे वारियर्स टीम का हिस्सा बन गए। अपने 55 मैच के आईपीएल करियर में उन्होंने कुल 1017 रन बनाए थे।

रॉस टेलर ने रॉयल्स चैलेंजर्स बंगलौर के खेमे में 2008 से लेकर 2011 तक 3 साल बिताये थे। 2011 में एक मिलियन डॉलर में राजस्थान ने उन्हें खरीद लिया था। अपनी किताब में उन्होंने लिखा है की उन्हें रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर में ही चाहिए था। रॉस के बयान पर अभी राजस्थान रॉयल्स ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।