Ravindra Jadeja

रविंद्र जडेजा के 5 शानदार रिकार्ड्स जिन्हें तोड़ पाना मुश्किल है

ऑल राउंडर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) एक ऐसा नाम है जिसे मैदान पर खेलता देख हर कोई प्रशन्न हो उठता है। जडेजा एक आल-राउंडर खिलाड़ी हैं जो की दरहक़ों को भरपूर एंटरटेनमेंट देने में नहीं चूकते हैं। अगर हम कहें कि आजके समय में ये सबसे शानदार फिनिशर और आल-राउंडर हैं तो ऐसा कहना गलत नहीं होगा। जडेजा ने अपने करियर में कई ऐसी यादगार परियां खेली हैं जो इन्हें एक महान बल्लेबाज़ बनाता है। आखिरकार ऐसे ही नहीं लोग इन्हें ‘सर जडेजा’ बुलाते हैं। कपिल देव के बाद भारत को यह आल राउंडर तोहफे के रूप में मिला है।

ऐसे कुछ ही बल्लेबाज़ होते हैं जो क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में अच्छा करके दिखाते हैं, जडेजा भी उनमें से एक हैं। जडेजा टेस्ट मैच में भी धांसू काम करते दिखते हैं। 2019 के बाद से उनका टेस्ट एवरेज 48 का रहा है, टेस्ट एवरेज के मामले में रोहित शर्मा के बाद यह दूसरे नंबर पर आते हैं।

इस बात पर कोई दोराय नहीं है की जडेजा भारतीय टीम में मज़बूती लाते हैं। ये बल्ले और बैट दोनों से कमाल दिखाने में सक्षम हैं। इंडिया के लिए जितने ये महत्वपूर्ण हैं उतने ही इंडियन प्रीमियर लीग(Indian Premier League) में चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Superkings) के लिए भी उतनी ही महत्वता रखते हैं।

चलिए एक नज़र जडेजा के 5 रिकार्ड्स पर डाल लेते हैं। हम यहां पर इंटरनेशनल क्रिकेट की बात करेंगे।

टेस्ट मैच में 9 विकेट और 150 रन

श्रीलंका के खिलाफ मोहाली में हुए टेस्ट मैच में जडेजा ने 175 रन नाबाद बनाए थे। रनों की लड़ी लगाने के बाद जडेजा ने 9 विकेट भी झटके थे। ऐसा करने वाले वह एकमात्र खिलाड़ी हैं। जडेजा से पहले यह रिकॉर्ड शाकिब अल हसन के पास था। उन्होंने 214 में ज़िम्बाम्ब्वे के खिलाफ 143 रन बनाकर 6 विकेट झटके थे।

जडेजा की ट्रिपल सेंचुरी

जडेजा टेस्ट क्रिकेट में बोलिंग-आलराउंडर का एक अहम् किरदार निभाते नज़र आते हैं। जडेजा पहले भारतीय और विश्व के आठवे ऐसे खिलाड़ी बने थे जिन्होंने तीन फर्स्ट क्लास शतक जड़े थे।

तेंदुलकर और कुंबले की इलीट लिस्ट में शामिल

मोहाली के मैदान में जडेजा का प्रदर्शन सदैव ही प्रभावशाली रहा है। इस मैदान में उन्हें इस मैदान पर लगातार सबसे ज्यादा बार मैन ऑफ़ द मैच का खिताब मिला है। उन्होंने इस मैदान पर कुल तीन मैन ऑफ़ द मैच के खिताब जीते हैं। सचिन ने चेन्नई में चार बार लगातार यह खिताब जीता है वहीँ अनिल कुंबले ने दिल्ली में चार बार तीन बार यह खिताब जीता है।

कपिल देव का दशकों पुराना रिकॉर्ड किया ध्वस्त

मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ जडेजा की 175 रनों की पारी अब तक की सबसे बड़ी पारी है। 7 नंबर पर बैटिंग करते हुए बनाये गए ये रन इतिहास के पन्नों में दर्ज़ सबसे ज्यादा रन हैं। जडेजा से पहले यह रिकॉर्ड कपिल देव के पास था। उन्होंने दशकों पहले सात नंबर पर श्रीलंका के खिलाफ बल्लेबाज़ी करते हुए 163 रन बनाए थे।

सर जडेजा: द बेस्ट आल राउंडर

रविंद्र दो भारतीय खिलाड़ियों में से एक हैं जिन्होंने जिन्होंने टेस्ट मैच और वनडे क्रिकेट में 2000 रन बनाने के साथ ही साथ 150 विकेट लेने का कारनामा रचा है। ऐसा करने वाले दूसरे खिलाड़ी कपिल देव हैं।