cric

आर्थिक तंगी के चलते छोटी-मोटी नौकरी करने को मोहताज़ हुए ये 5 क्रिकेट खिलाड़ी, एक बना स्मगलर

विनोद कांबली (Vinod Kambli) ने हाल ही में कहा है की उनका गुज़ारा 30,000 रुपए की पेंशन से नहीं चल रहा है, उन्हें अपने बच्चों की अच्छी परवरिश के लिए और काम करना होगा जिसके लिए उन्हें नौकरी करनी हैं। वह काम मांग रहे हैं। उनका कहना कि कोई काम न होने के कारण वह आर्थिक तंगी से गुज़र रहे हैं। कांबली ने कहा की उनकी कोई मदद नहीं कर रहा है।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है की एक पूर्व क्रिकेटर को ऐसा कहना पड़ रहा है, ऐसे कई क्रिकेटर हुए हैं जिन्हे आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा है। आज हम ऐसे ही पांच क्रिकेटर पर चर्चा करेंगे जिन्होंने आर्थिक तंगी के चलते अपने परिवार को सँभालने के लिए छोटी-मोटी नौकरियां की हैं।

पाकिस्तान के अर्शद खान की कैब ड्राइवर की कहानी

अरशद खान को आर्थिक तंगी के चलते कैब ड्राइवर बनना पड़ा था। इनका क्रिकेट करियर उतार चढाव वाला रहा था। पाकिस्तान के ऑफ ब्रेक गेंदबाज़ अर्शद खान ने देश के लिए कुल 9 टेस्ट मैच खेले थे। इस दौरान उन्होंने 32 विकेट भी चटकाए थे। 1997-98 के समय इन्हें पहली बार देश के लिए वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलने का मौका मिला था।

2001 तक अरशद खान पकिस्तान की तरफ से निरंतर खेलते रहे इसके बाद इन्हें टीम से निकाल दिया गया फिर इन्होने घरेलु क्रिकेट खेलना प्रारम्भ कर दिया। 2005 में इन्हें दोबारा से पकिस्तान की टीम से इंग्लैंड के खिलाफ खेलने का मौका मिला। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ ओडीआई सीरीज में अच्छी गेंदबाज़ी भी की। लेकिन दुर्भाग्यवश फिर कभी वह अपने आप को पाकिस्तानी टीम में वापस न ला सके। रिटायरमेंट के बाद वह ऑस्ट्रेलिया में जाकर बस गए और कैब ड्राइवर की नौकरी करने लगे।

धार्मिक काम में लगे इंग्लैंड के खिलाड़ी डेविड शिपर्ड

इंग्लैंड की तरफ से 22 टेस्ट मैच खेलने वाले डेविड शिपर्ड ने तीन शतक भी लगाए थे। उनका फर्स्ट क्लास करियर भी बेहद ही शानदार रहा था। उन्होंने 230 मैच खेलकर 45 शतक लगाए थे। काउंटी क्रिकेट में उनका शानदार प्रदर्शन रहा था। जब उनका करियर खत्म हुआ तो वह इंग्लैंड की चर्च में बिशप बन गए। 2005 में कैंसर के चलते इन्होने अपना देह त्याग दिया।

मछली और चिप्स बेचने को मज़बूर हुआ यह खिलाड़ी

1972 से लेकर 1980 तक क्रिस ओल्ड इंग्लैंड के गेंदबाज़ रहे थे। उन्होंने अपना पहला विकेट कोलकाता में सुनील गावस्कर का लिया था। यह उनका पहला मैच था और उन्होंने कुल 6 विकेट लिए थे। इसके बावजूद भी भारत ने यह मैच 28 रनों से जीत लिया था।

रिटायरमेंट के बाद उन्होंने अपनी पत्नी संग मछली और चिप्स बेंचना चालु कर दिया था।

गलत काम किया तो जेल गए क्रिस लेविस

इंग्लैंड के खिलाड़ी क्रिस लेविस का करियर जल्द ही ख़त्म होगया था। इन्होने इंग्लैंड के लिए 32 टेस्ट मैच खेले थे। इस दौरान इन्होने सिर्फ एक ही शतक मारा था, इन्होने चेन्नई में खेलते हुए भारत के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी। इन्होने अपना आखिरी टेस्ट मैच 1996 में पकिस्तान के खिलाफ खेला था। खराब फॉर्म के चलते इन्हें क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा था।

2009 में इन्हे लिक्विड कोकेन के स्मगलिंग के आरोप में 13 साल का कारावास हुआ था। यह अपने क्रिकेट बैग में £140,000 की कीमत का कोकेन फ्रूट जूस के डब्बे में भर कर ला रहे थे।

कर्टली एम्ब्रोस बने गिटार वादक

वेस्टइंडीज के खिलाड़ी एम्ब्रोश एक खतरनाक गेंदबाज़ थे। इन्होने 98 टेस्ट मैच खेलकर 405 विकेट लिए थे। इन्होने विंडीज के लिए 176 मैच खेले थे। 1994 में इंग्लैंड के खिलाफ इन्होने अपनी टीम के लिए 6 विकेट भी निकाले थे।

सन 2000 में इन्होने क्रिकेट से संन्यास ले लिया और ‘ड्रेड एंड द बाल्डहेड बैंड’ को ज्वाइन कर लिया और बास गिटार बजाने लग गए।