Ravichandran Ashwin

भविष्यवाणी: ‘T20 विश्वकप 2022 में नहीं खेलेंगे आश्विन’

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व विकेटकीपर और बल्लेबाज़ पार्थिव पटेल ने अजीबो-गरीब भविष्वाणी कर डाली है। उन्होंने हाल ही में यह बात कही है कि आने वाले 2022 T20 विश्वकप में वे आर आश्विन (Ravichandran Ashwin) को खेलते हुए नहीं देखना चाहते हैं। उनका ऐसा मानना है की भारतीय टीम में स्पिनरों की विविधता रहेगी तो टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

हाल ही में भारत और वेस्टइंडीज़ (INDvs WI) के बीच में सीरीज़ का पहला T20 मुकाबला खेला गया था। इस मुकाबले में ऑफ़ स्पिनर आर.आश्विन और लेग स्पिनर रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) की जोड़ी ने कमाल का प्रदर्शन कर डाला था। आश्विन ने जहां 5.50 की इकॉनमी के साथ चार ओवर में 22 रन देकर दो विकेट झटके थे वहीँ रवि बिश्नोई ने भी चार ओवर में 6.50 की इकॉनमी के साथ 26 रन देकर दो विकेट निकाल कर दिए थे। इन दोनों के शानदार प्रदर्शन के बदौलत भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज को मैच में हरा दिया था और यह मैच 68 रनों से जीता था।

वेस्टइंडीज की टीम 191 रनों का पीछा कर रही थी, लेकिन आर अश्विन ने अपनी चतुराई भरी गेंदबाज़ी और वर्षों के अनुभव की सहायता से वेस्टइंडीज़ के दो बल्लेबाज़ों को मैदान से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

हालांकि पूर्व क्रिकेटर पार्थिव पटेल (Parthiv Patel) आश्विन के लिए एक अलग ही राय रखते नज़र आ रहे हैं। उनका मानना है की आश्विन T20 की विश्वकप टीम का हिस्सा नहीं बनेंगे। आपको बता दें कि यूएई में पिछले साल खेले गए T20 वर्ल्डकप (T20 Worldcup) में आश्विन टीम का हिस्सा थे। कई सालों बाद वह सीमित ओवर के क्रिकेट में खेल रहे थे, उन्हें न्यूज़ीलैंड के खिलाफ भी सीमित ओवरों में टीम का हिस्सा बनाया गया था। पिछले 8 महीनों से वे सीमित ओवर के क्रिकेट से दूर रहे थे। आश्विन को अचानक से वेस्टइंडीज़ टीम के खिलाफ पांच मैचों की T20 सीरीज में खेलने का मौका दिया गया है जिसमें पहले मैच में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है जैसे की भारतीय मैनेजमेंट को उम्मीद थी। आश्विन ने गेंदबाज़ी के साथ ही साथ बल्लेबाज़ी में भी कुछ रन बटोरे थे।

भारत के पूर्व विकेटकीपर पार्थिव पटेल को ऐसा लगता है कि आश्विन को T20 वर्ल्डकप के लिए नहीं चुना जायेगा। इसका उन्होंने कारण बताते हुए कहा है कि युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव भारत के लिए एक अटैकिंग विकल्प हैं। क्रिकबज को दिए अपने साक्षात्कार में पटेल ने कहा है कि “मैं अगले मैच में बिश्नोई को आश्विन से आगे खेलते हुए देखना चाहता हूँ। यदि भारत दो स्पिनरों के साथ जाने का फैसला करता है तो। मैं ईमानदारी से कहूँ तो मैं आश्विन को विश्वकप खेलता नहीं देखता हूँ। मुझे कुलदीप यादव, चहल और बिश्नोई में विविधता चाहिए। कलाई के स्पिनर आपको बीच-बीच में विविधता दे पाते हैं और आश्विन ऐसा नहीं कर सकते हैं।”

आपको बता दें की कुलदीप यादव फिटनेस में पास होकर वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेली जा रही सीरीज़ में टीम का हिस्सा हैं, वहीँ चहल को आराम दिया गया है। पार्थिव पटेल ने कप्तान रोहित शर्मा की कप्तानी और उनके निर्णय को भी सराहा है। आश्विन, बिश्नोई और और जडेजा की स्पिन तिगड़ी ने कुल 5 विकेट चटकाए थे।

पटेल ने यह भी कहा है की “रोहित शर्मा ने तीनों स्पिनरों को अच्छे से चलाया है। उन्होंने यह सुनिश्चित किया था की तीनो स्पिनर अलग-अलग समय पर गेंदबाज़ी करें। जहां आश्विन और जडेजा ने पहले 6 ओवरों में कमान संभाली वहीँ बिश्नोई डेथ ओवर के शिकारी बने। जडेजा वैसे तो नई गेंद से गेंदबाज़ी नहीं करते हैं मगर दाएं हाँथ के बल्लेबाज़ों के कारण उन्हें पहले ही बल्लेबाज़ी करनी पड़ी।