Hardik Pandya

हार्दिक पांड्या के 5 ऐसे कारनामे जिन्हें कोई नहीं भूल सकता

हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो खेल के लिए पूरी तरह से समर्पित रहते हैं, हार्दिक ने इंटरनेशनल मैचों के साथ-साथ घरेलू मैचों में भी अपना दम-ख़म दिखाया है। गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पंड्या एक जुझारू खिलाड़ी हैं। आईपीएल 2022 (IPL 2022) में उनकी कप्तानी की खूब सराहना हुई और उन्होंने अपनी टीम को फाइनल भी जिताया।

हार्दिक पंड्या बल्लेबाज़ी से तो मैच को फिनिश करना जानते ही हैं साथ में ये गेंदबाज़ी भी अच्छी कर सकते हैं। यही वजह है की इन्हें टीम इंडिया में निरंतर जगह मिलती रहती है। हार्दिक पंड्या मीडियम पेस गेंदबाज़ी करना पसंद करते हैं। उन्होंने अपनी काबिलियत से भारत को कई मैच जितवाए हैं और साथ ही साथ अपनी गेंदबाज़ी से भी कई विकेट्स झटके हैं।

चलिए अब बात कर लेते हैं हार्दिक पंड्या की उन पारियों की जिन्हें उनके प्रसंशक कभी भी भूलना नहीं चाहेंगे।

कोलकाता के खिलाफ 34 गेंदों में 91 रन

आईपीएल 2019 में मुंबई इंडियंस को कोलकाता से एक बड़ी चुनौती मिली थी। कोलकाता नाइट राइडर्स (Kolkata Knight Riders) ने आंद्रे रसल्ल की मदद से मुंबई (Mumbai Indians) के खिलाफ 233 रनों का टारगेट सेट किया था। मुंबई के लिए इतने ज्यादा रन बनाना एक बड़ी चुनौती थी।

हार्दिक पंड्या नंबर 6 पर बैटिंग करने आये थे। पंड्या ने 34 गेंदों में 91 रन की पारी खेलकर सबको चौका दिया, भले ही मुंबई इंडियंस वह मैच न जीत पायी हो मगर हार्दिक पंड्या की सभी जगह चर्चा थी। हार्दिक पांड्या की यह यादगार पारी भूले नहीं भूलेगी क्योंकि हार्दिक पंड्या ने उस मैच में लम्बे-लम्बे छक्के जड़े थे।

96 गेंदों में 108 रनों की शानदार पारी

हार्दिक पंड्या का यह शतक भी यादगार है। पंड्या ने श्री लंका के खिलाफ तेज़ी से शतक बनाकर दर्शकों का दिल जीत लिया था। टेस्ट मैच में इतनी कम गेंदों में 108 रन बना लेना वाकई ही काबिल-ए-तारीफ है।

हार्दिक ने लंच ब्रेक से पहले ही यह कारनामा कर दिखाया था जिस दिन वह क्रीज़ पर आये थे, ऐसा करने वाले वह पहले भारतीय बने।

पाकिस्तान के खिलाफ रनों की बारिश

2017 की चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान ने भारत को 339 रनों का टारगेट दिया था। इस मैच में भारतीय टीम की हालत बेहद ही खस्ता हो चुकी थी ऐसे में हार्दिक पंड्या ने नंबर 6 पर आकर कमान संभाली मगर उनकी कोशिशों का कोई भी फायदा नहीं हुआ क्योंकि उन्हें बाकी के बल्लेबाज़ों से सहयोग नहीं मिला था।

लेकिन हार्दिक पांड्या ने दर्शकों की उम्मीदों को बांधे रखा था 43 गेंदों में 76 रनों की धमाकेदार पारी खेली, इससे पहले की वह अपना शतक पूरा करते की वह रन आउट होगये।

भारत यह मैच 180 रनों से हार गया मगर हार्दिक की यह पारी स्मरणीय रही।

बांग्लादेश के खिलाफ रोमांचक जीत के ज़िम्मेदार

हार्दिक पांड्या वैसे तो बल्लेबाज़ी से कमाल करते ही रहते हैं लेकिन इस बार उन्होंने गेंद के साथ भी कमाल करके दिखा दिया। 2016 T20 वर्ल्ड कप के दौरान बांग्लादेश को जीत के लिए आखिरी ओवर में 11 रन चाहिए थे। कप्तान धोनी ने हार्दिक पर भरोसा जताकर उन्हें गेंदबाज़ी सौंप दी।

हार्दिक पंड्या ने बेहतरीन गेंदबाज़ी की बाद में बांग्लादेश को 3 गेंदों में 2 रन ही चाहिए थे लेकिन पांड्या ने दो गेंदों में ही दो विकेट चटका दिए थे और इस तरह भारत ने एक हारे हुए मैच को जीतकर नयी कहानी रचा।

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 8 गेंदों में 21 रन

हार्दिक पांड्या उस समय नए-नए थे, इसके पहले उन्होंने कभी भी यादगार पारी नहीं खेली थी। हम बात कर रहे हैं आईपीएल 2015 की। हार्दिक पंड्या मुंबई इंडियंस से मैच खेल रहे थे। मुंबई को उस मैच को जीतने के लिए 12 गेंदों में 30 रन की जरूरत थी।

चेन्नई ने मुंबई की आधी टीम को पहले ही रफा-दफा कर दिया था। मुंबई इंडियंस हार की दहलीज़ पर खड़ी थी। उन्नीसवें ओवर में हार्दिक पंड्या ने पवन नेगी की गेंदों में 3 छक्के जड़ दिए थे। पंड्या ने 8 गेंदों में 21 रनों की पारी खेली थी जिसकी वजह से मुंबई इंडियंस आसानी से मैच जीत गयी थी।

मुंबई के कोच रिकी पोंटिंग ने हार्दिक की तारीफों के पुल बाँध दिए थे और हार्दिक को क्रिकेट जगत में नयी पहचान मिली थी।

हार्दिक पंड्या इस वक्त साउथ अफ्रीका के खिलाफ चल रहे अंतरष्ट्रीय एक दिवसीय मैचों (One Day International Match) में भी कमाल की बैटिंग करते नज़र आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.