Cricketers Having Government Job, MS Dhoni, Kapil Dev, Sachin Tendulkar

ये 7 क्रिकेट खिलाड़ी करते हैं सरकारी नौकरी, चौथे नंबर वाले हैं DSP साहब

भले ही हमारा राष्ट्रीय खेल हॉकी हो मगर क्रिकेट (Cricket) की दीवानगी कई गुना ज्यादा है। यही वजह है की आईपीएल विश्व का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट लीग है। क्रिकेट को भारत में सिर्फ देखा और खेला ही नहीं जाता बल्कि यह खेल हिन्दुस्तान की धरती में पूजा भी जाता है।

भारत में एक ऐसा चलन भी है जिसमें सरकार क्रिकेट व् अन्य खेलों में भारत का नाम रोशन करने वालों को उपहार स्वरुप सरकारी नौकरी देती है। हमारी सरकारें अपने खिलाडियों का अच्छे से ध्यान रखती है ताकि उन्हें आर्थिक तंगी का सामना न करना पड़े।

हमारे देश में क्रिकेटर्स और सिनेमा स्टार्स की ब्रांड वैल्यू आसमान छूती है इसका एक मात्र यही कारण है की लोगों में उनके प्रति दीवानगी बहुत ज्यादा है।

आज हम इस लेख में ऐसे ही 7 क्रिकेटरों की बात करेंगे जो क्रिकेट खेलने के साथ-साथ सरकारी नौकरी (Government Job) से भी नाता रखते हैं या फिर क्रिकेट से संन्यास लेकर सरकारी नौकरी कर रहे हैं।

1. केएल राहुल

केएल राहुल (KL Rahul) रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया में असिस्टेंट मैनेजर के पद पर तैनात हैं। केएल राहुल ने अपना पहला अंतराष्ट्रीय क्रिकेट साल 2014 में खेला था तब से वह निरंतर भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं। आपको बता दें की केएल राहुल टेस्ट टीम का हिस्सा बहुत कम ही रहे हैं।

साल 2018 में केएल राहुल को उस समय के रिज़र्व बैंक के गवर्नर एस.एस मुंधरा के कहने पर असिस्टेंट मैनेजर के पद में नियुक्त किया गया था।

2. कपिल देव

83 विश्व कप के दौरान भारत की अगुवाई करने वाले एक महान क्रिकेटर हैं कपिल देव (Kapil Dev). कपिल देव अपने समय के एक बेहतरीन आल राउंडर हैं। इन्ही के दिमाग की उपज के कारण भारत ने विश्व कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ 183 रन डिफेंड किये थे। उस दौरान सर इऑन बॉथम, सर रिचर्ड हेडली और इमरान खान जैसे आल राउंडर के सामने अपनी पहचान बनाना कपिल के लिए कोई आसान काम नहीं था।

साल 2008 में कपिल देव को सम्मानित करके उन्हें भारतीय थल सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल बनाया गया। यह पहली बार था जब किसी क्रिकेटर को इतनी बड़ी उपाधि दी गयी हो।

3. उमेश यादव

उमेश यादव (Umesh Yadav) ने अंतराष्ट्रीय खेल (International Cricket) में पहली बार साल 2010 में कदम रखा था और उन्होंने टेस्ट मैच में साल 2011 में कदम रखा रखा था। उमेश आज की तारीख में टेस्ट टीम के एक अहम् हिस्सा हैं। उमेश यादव एक राइट आर्म पेसर हैं।

उमेश यादव वैसे तो पुलिस कांस्टेबल बनना चाहते थे मगर लिखित परीक्षा में फेल हो जाने के कारण वह ऐसा करने में असफल रहे थे। बाद में साल 2017 में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने उन्हें असिस्टेंट मैनेजर के पद में नियुक्त किया।

उन्हें यह नौकरी खेल कोटा के तहत मिली थी।

4. जोगिन्दर शर्मा

यह वही जोगिन्दर शर्मा (Joginder Sharma) हैं जिन्होंने ICC World T20 में पाकिस्तान के खिलाफ तगड़ी गेंदबाज़ी करके 12 रन डिफेंड किये थे। इन्हीं की बदौलत मिस्बाह उल हक़ नाकाम रहे और टीम इंडिया मैच जीत गयी।

यह जोगिन्दर का आखिरी अंतराष्ट्रीय मैच था।

उनकी ताबड़तोड़ परफॉरमेंस को देख कर उन्हें 21 लाख रूपये इनाम मिले और उन्हें हरयाणा पुलिस में जगह मिली। इस दौरान वह कुरुक्षेत्र जिले के पेहोवा में डिप्टी सुपरिटेंडेंट हैं.

5. महेंद्र सिंह धोनी

आज की तारिख में महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) एक ऐसा नाम है जिसे लोग अपना आइडल मानते हैं, नौजवान क्रिकेटर उनसे सीख लेते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी ने भारत को 2007 और 2011 में विश्व कप जितवाया था। साथ ही साथ उनकी कप्तानी में भारत चैंपियंस ट्रॉफी भी जीत चुका है।

कपिल देव की तरह ही धोनी को भी भारतीय सेना ने लियूटीनैंट कर्नल की उपाधि से नवाज़ा है।

6. युजवेंद्र चहल

युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) और कुलदीप यादव के स्पिन बॉलिंग जोड़ी से भला कौन नहीं वाकिफ है? 2016 में इन दोनों ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया था। ये दोनों ही सामने वाली टीम को बाँध कर रखते थे और साथ ही साथ विकेट भी चटकाते रहते थे।

चहल के पिता जी ने एक मीडिया कंपनी को इस बात की जानकारी दी थी की उनके बेटे को भारत सरकार ने इनकम टैक्स ऑफिसर के तौर पर नियुक्त किया है।

7. सचिन तेंदुलकर

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने जो भारतीय क्रिकेट में अपना योगदान दिया है शायद ही कोई दूसरा दे पायेगा। सचिन तेंदुलकर ने 23 साल की उम्र में ही भारत के लिए क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था।

आज की तारिख में उनके पास ऐसे कई रिकार्ड्स हैं जिन्हें कोई तोड़ने के बारे में सोच भी नहीं सकता है।

साल 2010 में सचिन तेंदुलकर को वायुसेना में ग्रुप कैप्टेन बनाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.