Mumbai Indians Failure

5 कारण जिसकी वजह से Mumbai Indians इस सीजन हुई फेल, सिर्फ रोहित शर्मा की नहीं थी गलती

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को आईपीएल (IPL) इतिहास की सबसे दमदार टीम्स में गिना जाता है. मुंबई इंडियंस इस आईपीएल सीजन में फेल होगई है और कुछ खास कारनामा नही दिखा पाई. इस सीजन रोहित शर्मा की टीम मुंबई इंडियंस लगातार 8 मैचेज हारी थी और आईपीएल के शुरुवाती स्टेज में ही बाहर होगई थी.

आईपीएल 2022 में सबसे पहले बाहर होने वाली टीम मुंबई इंडियंस रही. आइए नजर डालते है उन 5 कारणों पर जिसकी वजह से इस बार मुंबई इंडियंस को परेसानियो का सामना करना पड़ा था.

1. मैच जिताऊ खिलाड़ियों की कमी

मुंबई द्वारा रिटेन किए गए 4 खिलाड़ियों के अलावा इस सीजन कोई खास टैलेंट वाला प्लेयर मुंबई इंडियंस में इस बार नही दिखा. मैच जीतने के लिए कम से कम 4-5 बढ़िया खिलाड़ियों की जरूरत पड़ती है जबकि इस बार मुंबई की टीम के नामी खिलाड़ी भी कुछ खास धाक नही जमा पाए. मुंबई इंडियंस के जो सबसे धाकड़ खिलाड़ी जैसे की रोहित शर्मा (Rohit Sharma), सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, कीरोन पोलार्ड आदि कुछ खास प्रदर्शन नही दिखा पाए.

2. नही चल पाया बल्लेबाज़ों का जादू

मुंबई इंडियंस के बैट्समैन इस सीजन में कुछ खास जादू नही दिखा पाए। रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड ओर ईशान किशन ने इस सीजन बिलकुल भी अच्छा परफॉर्म नहीं किया.

मुंबई इंडियंस के स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा भी इस बार कोई बड़ा स्कोर नही बना पाए ओर दूसरे हाथ में ईशान किशन जिनको बहुत ही महंगे दामों में खरीदा गया था (15.25 करोड़) वो भी कुछ खास कमाल नहीं कर पाए.

मिडिल ओवर्स में मुंबई इंडियन बिलकुल भी अच्छा प्रदर्शन नही कर पाई. इस साल खतरनाक बल्लेबाज कीरोन पोलार्ड भी कुछ खास जलवा नही दिखा पाए ना ही इनके बड़े छक्के देखने को मिले ओर न ही बड़ा स्कोर.

मुंबई इंडियंस के पास पहले हार्दिक पंड्या ओर कृणाल पंड्या जैसे बढ़िया ऑल राउंडर थे जिनको की गुजरात और लखनऊ ने अपनी टीम में कर लिया.

3. बॉलिंग में केवल बुमराह ही अकेले शेर रहे उनका साथ किसी ने नहीं दिया

मुंबई इंडियंस ने बुमराह को इस सीजन रिटेन किया था, उनके अलावा मुंबई इंडियंस किसी भी अच्छे बॉलर्स को नही ले पाई जो की उनके लिए विकेट निकाल सके. हालाकि उनादकट के पास थोड़ा अनुभव है लेकिन इस सीजन वे भी कुछ खास नहीं कर पाए.

मुंबई ने पोलार्ड को पांचवे बॉलर की तरह भी इस्तेमाल किया क्योंकि सैम्स को पैट कमिंस ने हचक के धोया था.

4. बड़े विदेशी खिलाड़ियों का ना चल पाना

मुंबई ने आईपीएल ऑक्शन में बहुत पैसे खर्च कर कुछ बड़े विदेशी खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल किया था. मिल्स ओर ब्रेविस के अलावा बाकी कोई अच्छा नहीं कर पाया. डेनियल सैम्स ने खाली तीन मैचों में ही 130+ रन दे दिए थे.

5. बिना अनुभव का मिडिल ऑर्डर

मिडिल ऑर्डर का खराब प्रदर्शन मुंबई के लिए बहुत बड़ी परेशानी साबित हुआ. मिडिल ऑर्डर में खाली सूर्य कुमार यादव ही एक मात्र अनुभवी खिलाड़ी थे. मुंबई ने युवा खिलाड़ियों पे भी भरोसा जताया. डीवाल्ड ब्रेविस और तिलक वर्मा ने कुछ अच्छी झलक भी दिखाई और अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया लेकिन ये खिलाड़ी किसी भी प्रकार का बड़ा स्कोर खड़ा करने में असमर्थ रहे जिसका खामियाजा मुंबई इंडियंस को झेलना पड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.